बस कुछ दिनों तक इस लड्डू का करें सेवन घुटनों के दर्द से पायें छुटकारा

Gum Laddus गोंद के लड्डू का सेवन करने से कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। क्योंकि गोंद के लड्डू बनाने में गोंद, देसी घी, चीनी, किशमिश और कई सूखे मेवों का इस्तेमाल किया जाता है और ये सभी चीजें पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं, जो शरीर में ऊर्जा बनाए रखने में मददगार साबित होती हैं, इसके अलावा गोंद के लड्डू का सेवन करने से कई स्वास्थ्य समस्याओं से छुटकारा पा सकते है।

Gum laddus benefits

गोंद कोई कृत्रिम पदार्थ नहीं बल्कि प्रकृति में पाई जाने वाली एक अनमोल जड़ी-बूटी है। नीम, बबूल जैसे पेड़ के तने पर चीरा लगाने से रस या स्राव निकलता है, जो सूखकर सख्त हो जाता है। यह सूखा हुआ रस ही गोंद है। प्राकृतिक रूप से पाए जाने के कारण इसमें गुणों का अमूल्य खजाना है। यह स्वाद में ठंडा और पौष्टिक होता है।

Gum गोंद कैंसर से लेकर हृदय रोग तक की बीमारियों को ठीक करता है। बेशक इससे खांसी, सर्दी, फ्लू और इंफेक्शन जैसी समस्याएं दूर हो गई हैं। यह गोंद बबूल के पेड़ की शाखाओं से आता है। जो सूखने के बाद भूरे और सख्त हो जाते हैं। जिसे गोंद कहा जाता है। इस गोंद का उपयोग आयुर्वेदिक औषधियों के साथ-साथ लड्डू बनाने में भी किया जाता है। गोंद में ढेर सारे औषधीय गुण होते हैं क्योंकि यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है।

Gum Laddus Benefits / गोंद का लड्डू खाने के फायदे

गोंद का लड्डू का सेवन हड्डियों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। गोंद के लड्डू में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होने के कारण गोंद के लड्डू के सेवन से हड्डियां मजबूत होती हैं। जिससे हड्डियों से जुड़ी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। घुटनों में दर्द हो या जोड़ों में किसी भी तरह का दर्द हो तो बस कुछ दिनों तक गोंद का लड्डू खाने से दर्द से राहत मिलती है।

गोंद के लड्डू एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होते हैं, इसलिए गोंद के लड्डू का सेवन करने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। जिससे आप वायरस और बैक्टीरिया की चपेट से बच सकते हैं। कमजोरी और थकान महसूस होने पर गोंद का लड्डू का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। क्योंकि गोंद के लड्डू पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, जो शरीर में ऊर्जा बनाए रखने में मदद करते हैं।

गोंद का सेवन शरीर में कैंसर कोशिकाओं को मारने में मदद करता है और कैंसर से बचाता है। गोंद या इससे बने उत्पाद खाने से हृदय रोग का खतरा कम होता है और मांसपेशियां मजबूत होती हैं।

कब्ज की शिकायत होने पर गोंद का लड्डू का सेवन फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि गोंद के लड्डू में फाइबर पाया जाता है, जो मल को नरम करता है, जिससे कब्ज की समस्या दूर हो जाती है। गोंद का लड्डू का सेवन दिल के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि गोंद के लड्डू में पोटेशियम, प्रोटीन और मैग्नीशियम जैसे तत्व होते हैं, जो हृदय रोग के खतरे को कम करने में मदद करते हैं।

शरीर में खून की कमी होने पर अगर यह लड्डू खाया जाए तो शरीर में खून की मात्रा सही रहती है। इसलिए जिन लोगों के शरीर में खून की कमी है उन्हें ये लड्डू खाना चाहिए, साथ ही इसके सेवन से ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित रहता है। ग्लूटिनस करछुल एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होते हैं। इसलिए अगर आप गोंद का लड्डू का सेवन करते हैं तो इससे आंखों की रोशनी बढ़ती है।

यह लड्डू मजबूत हड्डियों के लिए भी फायदेमंद है। और इसे खाने से हड्डियां कमजोर नहीं होती इसलिए रोज रात को सोने से पहले गर्म दूध के साथ एक चम्मच गोंद का सेवन करें। गर्म दूध के साथ लड्डू खाने से हड्डियों और मांसपेशियों पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा यह लड्डू रीढ़ की हड्डी के लिए भी बहुत अच्छा माना जाता है।

गोंद के लड्डू बनाने के लिए जरूरी सामग्री

गेहूं का आटा 2 कप, घी 250 ग्राम, गुड़ 200 ग्राम, सूखा नारियल 50 ग्राम, गोंद 200 ग्राम, काजू 50 ग्राम, बादाम 50 ग्राम, अखरोट 50 ग्राम, सुथ पाउडर 1 चम्मच, इलायची पाउडर ¼ चम्मच, जायफल पाउडर ¼ चम्मच।

गोंद के लड्डू बनाने की विधि

सबसे पहले एक पैन गरम करें, उसमें दो चम्मच घी डालकर गर्म करें और गोंद को भून लें, तले हुए पेस्ट को अलग रख लें, उसी पैन में एक चम्मच घी डालें, उसमें काजू, बादाम, पिस्ता और अखरोट डालकर धीमी आंच पर भून लें। ड्राई फ्रूट भुन जाने पर इसे दूसरे बर्तन में निकाल लीजिए। अब उसी पैन में बचा हुआ घी लें और घी को बराबर गर्म कर लें।

जब घी गरम हो जाए तो गैस धीमी कर दीजिए और धीमी आंच पर इसमें आटा डालकर चलाते रहिए। आटे को सुनहरा होने तक भून लीजिए। जब आटा अच्छी तरह पक जाए तो गैस बंद कर दीजिए और इसमें तले हुए सूखे मेवे, गोंद और नारियल डालकर मिला दीजिए।

अब गैस पर एक पैन में 2-3 चम्मच घी डालकर गर्म करें, घी गर्म होने पर इसमें कद्दूकस किया हुआ गुड़ डालें और धीमी आंच पर गुड़ को पिघला लें, जब गुड़ पिघल जाए तो गैस बंद कर दें, गुड़ को आटे के मिश्रण में डालकर मिला लें। अच्छा, फिर जायफल पाउडर, दालचीनी पाउडर डालें। इलायची पाउडर डालें और अच्छी तरह मिलाएँ। जब यह मिश्रण थोड़ा ठंडा हो जाए तो इसके छोटे-छोटे लड्डू बनाकर किसी एयरटाइट कंटेनर में भर लें।
Previous Post Next Post