कनाडा से रिश्ते बिगड़ने से भारत को क्या होगा फायदा और नुकसान?

भारत और कनाडा के बीच विवाद के बीच दोनों देशों के बीच अभूतपूर्व तनाव देखने को मिल रहा है। दोनों देशों के बीच कूटनीतिक हालात अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहे हैं। भारत ने कनाडा पर खालिस्तानी आतंकियों को पनाह देने और मामले को दबाने का यह बेबुनियाद आरोप लगाया है। गौरतलब है कि हाल ही में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तान आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारतीय एजेंटों का हाथ होने की आशंका जताई थी, जिसे भारत ने खारिज कर दिया था। ऐसे में सवाल ये है कि भारत और कनाडा के बीच तनाव का भारत पर क्या असर पड़ेगा?

कनाडा से रिश्ते बिगड़ने से भारत को क्या होगा फायदा और नुकसान?



भारत और कनाडा के बीच चल रहे तनाव के कारण कनाडा में पढ़ रहे छात्रों के परिवार दहशत में हैं। अब मोदी सरकार ने अभिभावकों की चिंता दूर कर दी है। सरकार ने कहा है कि छात्रों के परिवारों को डरने की जरूरत नहीं है। विदेश मंत्रालय ने 44 मिनट की प्रेस कॉन्फ्रेंस में कनाडा से जुड़े हर सवाल का जवाब दिया। सरकार ने कनाडा के साथ-साथ दुनिया को भी भारत का रुख स्पष्ट कर दिया। कनाडा और भारत के रिश्तों में खटास को लेकर कई लोगों के मन में कई सवाल हैं।



भारत के कई छात्र कनाडा में रहते हैं

भारत और कनाडा के बीच व्यापार, शिक्षा, प्रवासन और पर्यटन आदान-प्रदान हैं। भारत और कनाडा के बीच परमाणु सहयोग, दोहरे कराधान, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, कृषि, ऊर्जा, शिक्षा से संबंधित कई समझौते और द्विपक्षीय समझौते भी हैं। भारत के कई छात्र कनाडा में रहकर पढ़ाई करते हैं। विदेश मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, साल 2022 तक भारत से 13 लाख 24 हजार से ज्यादा छात्र पढ़ाई कर रहे थे, जिनमें से 1 लाख 83 हजार से ज्यादा छात्र अकेले कनाडा में पढ़ रहे हैं।

भारत और कनाडा के बीच व्यापार

कनाडा सरकार के अनुसार, वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए कनाडा और भारत के बीच द्विपक्षीय व्यापार 8,161.02 मिलियन डॉलर था। जिसमें कनाडा ने 70 अरब डॉलर का निवेश किया है। भारत कनाडा का दसवां सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है और कनाडा भारत का 35वां सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है। भारत और कनाडा के बीच मुक्त व्यापार समझौता लगभग दस वर्षों से बातचीत में अटका हुआ है।

भारत के पर्यटन में कनाडा का योगदान

भारत सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, 2021 में कुल 80,437 कनाडाई पर्यटक भारत आए, जो भारत में आने वाले कुल पर्यटकों का 5.3 प्रतिशत है।


देशों के बीच निर्यात क्या है?

2022-23 में भारत ने कनाडा को लगभग 4 बिलियन डॉलर का निर्यात किया। वहीं, कनाडा ने भारत को 4.05 अरब डॉलर का निर्यात भी किया। निर्यात किए जाने वाले सामानों में भारत लोहा और इस्पात, फार्मा उत्पाद, कपड़े, इंजीनियरिंग सामान, कीमती पत्थर भेजता है। जबकि कनाडा भारत को लकड़ी का गूदा, एस्बेस्टस, पोटाश, लौह स्क्रैप, दालें, अखबारी कागज, खनिज, औद्योगिक रसायन जैसी चीजें भेजता है।
Previous Post Next Post