TrendzPlay क्या आपका बच्चा दिन भर मोबाइल का इस्तेमाल करता है? | Trendz Play


क्या आपका बच्चा दिन भर मोबाइल का इस्तेमाल करता है?

आजकल Child क्वास के अलावा अन्य असाइनमेंट, रिसर्च और मनोरंजन के लिए Mobile या Laptop का इस्तेमाल करते हैं। इससे उनका Screen Time काफी बढ़ गया है। Mobile के साथ अधिक समय बिताने वाले Children पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है।

क्या आपका बच्चा दिन भर मोबाइल का इस्तेमाल करता है?



Mobile के अत्यधिक उपयोग से बच्चों की जीवनशैली में बदलाव आ रहा है, जिससे मोटापा, कम भूख लगना, चिड़चिड़ापन और बच्चों का अविकसित विकास जैसी समस्याएं हो रही हैं। ओवरडेवलपमेंट का मतलब है कि बच्चे अपनी उम्र के हिसाब से ज्यादा विकसित हो रहे हैं। क्योंकि बच्चे Mobile फोन में कुछ भी देख सकते हैं, उन्हें अपनी उम्र के हिसाब से जरूरत से ज्यादा जानकारी मिल जाती है।

बच्चे मोबाइल पर क्या करते हैं, इस पर नजर रखें ऐसे

आभासी दुनिया का मतलब है कि स्क्रीन के सामने अधिक समय बिताने से बच्चे शारीरिक गतिविधियों, लोगों के साथ बातचीत और जीवन में उपयोगी कौशल सीखने में अधिक समय नहीं लगाते हैं, जो उनके समग्र विकास को प्रभावित करता है।

हेल्थ लाइन की एक रिपोर्ट के मुताबिक जानें कि Screen Time का बच्चों पर कितना असर पड़ रहा है, इससे बचने के क्या उपाय हैं।

अधिक समय तक मोबाइल का उपयोग करने से होता है यह नुक्सान

गलत रास्ते जाने का डर: Mobile और Internet की वजह से पूरी दुनिया बच्चों के हाथ में है। ऐसे में वे देख सकते हैं कि उन्हें क्या चाहिए। अक्सर एक बच्चा जाने-अनजाने भटक जाता है।
नींद पर प्रभाव: स्क्रीन से निकलने वाली रेंज, विशेष रूप से नीली रोशनी, स्लीप हार्मोन मेलाटोनिन को रिलीज होने से रोकती है, जो अनिद्रा का कारण बनता है।
भावना पर प्रभाव: Digital World बच्चों की कल्पना और प्रेरणा के स्तर को प्रभावित करती है, जिससे बच्चों में तनाव, जलन, निराशा और आवेगी विकार पैदा होते हैं।
अकेले रहते हैं: बच्चे Mobile के साथ अकेले रहना पसंद करते हैं। ऐसे में वे परिवार और दोस्तों से दूरी बनाकर रखते हैं, जिसका असर उनके मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है।

बच्चों के लिए अत्यधिक Screen Time कितना खतरनाक है?

Screen पर दिन में 7 से 9 घंटे बिताने वाले बच्चों के MRI Scan से पता चलता है कि मस्तिष्क के कुछ हिस्से सामान्य से बहुत दूर हैं।

Screen पर दिन में 2 घंटे से अधिक समय बिताने वाले बच्चों ने भाषा और विचार परीक्षणों में कम स्कोर किया, और जिन बच्चों का Screen Time कम था, उन्होंने बेहतर स्कोर किया।

मोबाइल के ज्यादा इस्तेमाल से होती है ये समस्या

सिरदर्द, चिड़चिड़ापन
आंखों में सूजन या ललाश
तनहाई
आंखों में कमजोरी का खतरा
कम एकाग्रता

Screen Time के साथ बहुत सी बातों का ध्यान रखें

बैठने की स्थिति: सोते समय लैपटॉप या फोन की ओर न देखें, कुर्सी और टेबल का प्रयोग करें। स्क्रीन आंखों के स्तर से 33 सेमी दूर होनी चाहिए।
रोशनी: लैपटॉप या फोन की रोशनी में अंधेरे में पढ़ने से बचें। कम रोशनी से आंखों की समस्या होती है।
एंटी-ग्लेयर चश्मे: अधिक स्क्रीन टाइम वाले बच्चों को एंटी-ग्लेयर ग्लासेस का इस्तेमाल करना चाहिए।
ब्रेक लेना चाहिए: स्क्रीन पर पढ़ते समय बीच-बीच में ब्रेक लें। अपनी आंखें झपकाएं और दूर से किसी चीज को देखें। इससे आंखों की मांसपेशियों को आराम मिलता है।

बच्चों को गंदी वेबसाइट/फोटो/वीडियो देखने से कैसे रोके ? ये है आसान तरीका

इस तरह माता-पिता बच्चों की देखभाल रखें

बच्चों पर नजर रखें कि वे कितने घंटे इंटरनेट या मोबाइल पर बिता रहे हैं। उम्र के हिसाब से स्क्रीन टाइम सीमित करें।
बच्चों को व्यायाम, साइकिल चलाना या जॉगिंग जैसी शारीरिक गतिविधियों में शामिल करे।
पता करें कि बच्चे किन ऐप्स का उपयोग कर रहे हैं, उनके फ़ोन पासवर्ड का ध्यान रखें।
फोन पर माता-पिता की सुरक्षा का नियंत्रण रखें। पॉप अप ब्लॉकर्स का प्रयोग करें।
सामान्य Google के बजाय बच्चों के लिए सुरक्षित का उपयोग करें।
हेलीकॉप्टर पेरेंटिंग न करें। इससे बच्चे अपना सामान आपसे छुपा सकेंगे।

Note :

Be sure to consult a doctor before adopting any health tips. Because no one knows better than your doctor what is appropriate or how appropriate according to your body


The views and opinions expressed in article/website are those of the authors and do not Necessarily reflect the official policy or position of www.trendzplay.com. Any content provided by our bloggers or authors are of their opinion, and are not intended to malign any religion, ethic group, club, organization, Company, individual or anyone or anything.

Disclaimer:
The views and opinions expressed in article/website are those of the authors and do not Necessarily reflect the official policy or position of trendzplay.com. Any content provided by our bloggers or authors are of their opinion, and are not intended to malign any religion, ethic group, club, organization, Company, individual or anyone or anything.

Subscribe to receive free email updates:

0 Response to "क्या आपका बच्चा दिन भर मोबाइल का इस्तेमाल करता है?"

Post a Comment