विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना महामारी को हथियारों के रख दिए है।


WHO की स्वास्थ्य एजेंसी के कार्यकारी निदेशक माइक राइन को डर है कि कोरोना कभी दुनिया से खत्म ही नहीं होगा ।

उन्होंने कहा कि जिस तरह HIV कुछ देशों में महामारी बन कर रह गया है,

उसी तरह कोरोना कुछ देशों में महामारी बन कर रह जाएगा है।

WHO के मुख्य वैज्ञानिक ने कहा कि कोरोना की दवा की खोज में 4-5 साल लग सकते हैं।

इसलिए हमें लगता है कि लोगों को अब कोरोना के साथ जीने की आदत डालनी होगी

जैसे-जैसे कोरोना का समय बीतता जा रहा है, लोगों का व्यवसायिक रोजगार प्रभावित हो रहा है।

और लोग भी पैसे की तंगी से परेशां हो रहे है. लेकिन ये अब और नहीं चलेगा ऐसे संकेत सभी राज्यों से मिल रहे है

गुजरात की बात करते हैं, गुजरात में दो अलग-अलग विभाग में बट गए हैं,

  1. लोगों को घर पर रहना चाहिए और कोरोना से सुरक्षित रहे - सीएम का कहना है
  2. अब कोरोना डर कर घर में बैठना सभव नहीं है - डिप्टी सीएम
  • राज्य सरकार ने केंद्र सरकार को सूरत और अहमदाबाद में हॉटस्पॉट स्थानों के अलावा अन्य क्षेत्रों की स्थितियों में व्यावसायिक रोजगार में रियायतों की अनुमति देने का प्रस्ताव किया है।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में जहां कोरोना का प्रभाव कम है, ऐसे क्षेत्रों में सामाजिक दूरी की शर्तों के साथ सभी व्यवसायों और रोजगार की छूट की मांग की गई है।
  • खेती और सभी संबंधित गतिविधियों की अनुमति के लिए मांग रखी है।
  • धार्मिक, राजनीतिक आयोजनों और वाटर पार्क जैसी जगहों पर भी प्रतिबंध लगाने की मांग की गई है जहां सामाजिक दुरी रखना मुश्किल है।
  • यात्रियों की समिति संख्या के नियम के साथ-साथ सार्वजनिक परिवहन जैसे सिटी बस, रिक्शा की भी मांग की जा सकती है।
  • हमारी राय में इस तरह से राज्य सरकार अनुमति दे सकते हैं। यह एक संकेत है कि यह नया लॉकडाउन पिछले तीन लॉकडाउन की तरह चौथा लोकदावून 4.0 नहीं होगा। हमें प्राप्त जानकारी के अनुसार, निम्नलिखित दुकानें खोलने की अनुमति राज्य सरकार केंद्र सरकार से मांग सकती है।


क्या हर barcode 890 वाली प्रोडक्ट भारत में बनी है ? जाने पूरा सच


इन दुकानों को हर दिन खुला रखा जा सकता है

  • मिठाई - फ़रसान की दुकान
  • सब्जियां
  • किराने का सामान
  • दूध डेयरी
  • जनरल स्टोर
  • ऑटो गैरेज
  • पंचर की दुकान
  • स्टेशनरी की दुकान
  • आइस क्रीम की दुकान


कुछ दिन खोलने की अनुमति दे सकते है

  • मोबाइल की दुकान
  • हार्डवेयर की दुकान
  • सेनेटरी की दुकान
  • ऑटो मोबाइल की दुकान
  • रेडीमेड गारमेंट की दुकान
  • चश्मे की दुकान
  • जूते की दुकान
  • फर्नीचर की दुकान
  • प्रिंटिंग प्रेस की दुकान
  • आभूषणों की दुकान


Read News : सरकार ने रद्द किए 3 करोड़ राशन कार्ड, आपका तो रद्द नहीं हुआ देखे



उपरोक्त स्टोर सप्ताह में से कुछ को तीन दिन खुला रह सकता है और बाकी दुकानों को दूसरे तीन दिन ।

ताकि एक ही समय पर सड़क या दुकान पर भीड़ न हो और व्यवस्था भी बनी रहे।

यह हमारा अनुमान है। राज्य सरकार इस में कुछ भी बदलाव कर सकती है।

ये सिर्फ हमारा सूत्रों के हवाले से खबर है. आखरी निर्णय केंद्र सर्कार के दिशा निर्देश के अनुसार रहेंगे

17 मई के बाद के ये नियम हो सकते हैं

  • यहां तक ​​कि अगर लॉकडाउन पूरा हो गया है और राहत दी गई है, तो अंतरराज्यीय सड़के फिर से शुरू होने की कोई संभावना नहीं है।
  • यदि कोई दूसरे राज्य में फंसा हुआ है, तो मंजूरी दी जाएगी लेकिन कोरोना का टेस्ट करवाना होगाऔर 14 दिन कोरोंटिन रहना पड़ेगा।
  • सभी प्रकार के निजी वाहनों पर प्रतिबंध हटाने की संभावना बहोत कम है
  • केवल आवश्यक सेवा वाहन सड़क पर दौड़ेंगे।
  • हॉटस्पॉट और कन्टेनमेंट एरिया में दुकान को केवल 3 घंटे के लिए खुले रहने की अनुमति हो सकती है।
  • ऐसा लगता है कि हॉटस्पॉट के अल्वा दूसरे क्षेत्र को 12 घंटे (सुबह 7 से शाम 7 बजे) का अनुमति दे सकते है।

Read News : अभिनेत्री अजय देवगन के प्यार में पागल थी, 48 साल की आज भी है कुंवारी


आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगे और सरकार को भी इस बात का विचार करना चाहिए तो इसे अधिक से अधिक लोगो से शेर करे.