फेसबुक ने मिलाया फिर से – Long Distance

पिंटू और नेहा कभी एक-दुसरे का चेहरा देखे बिना नहीं रहा पाते. बाते तो हमेशा होता ही रहता था. कभी पिंटू  call नहीं कर पता तो नेहा का call तुरंत ही आ जाता. कहाँ हो क्या कर रहे ठिक हो न. वैसे ही हल पिंटू  का भी था. दोनों एक दुसरे के साथ जीने मरने की कसमे खाई. कभी ना छोड़ने का वादा दिया. दोनों अपना love लाइफ एन्जॉय कर रहे थे. मगर इस उजाले के बाद अँधेरा आना बाकी था.


Hindi New Love Story

नेहा के घर वाले उस पर शादी के लिए दबाव डालने लगे. मना करने के बाद भी उसकी शादी कही और ठिक हो गई. और एक दिन शादी भी हो गई. दोनों एक दुसरे से जुदा हो गये. पिंटू का भी शादी हो गया. उसका शादी एक बहुत ही सुंदर लड़की से हुआ. मगर उनका दिल न मिल पाया. पिंटू हमेशा नेहा की यादो में ही खोया रहता. दिन भर उसे याद करता और उदास रहता.

Love Story – Born Each Other

समय बिताता गया. नेहा के बच्चे हो गये और पिंटू के भी. मगर न ही नेहा अपने पति के साथ खुश थी और न ही पिंटू अपनी पत्नी के साथ. उनका आपस में हमेशा झगडा होते रहता. अभी भी न ही नेहा, पिंटू को भुला पाई और न ही पिंटू  नेहा को. पिंटू  की वाइफ बहुत ही सुंदर थी फिर भी वह उस से खुश नहीं था. और उस से दिल भी नहीं लगा पाया.
समय के साथ दोनों के बच्चे बड़े हुए और उनके शादी भी हो गये. एक-दुसरे से बिछड़े काफी समय हो गया. समय काफी तेजी से बढ़ रहा था. इन्टरनेट की दुनियाँ आ गई थी. दोनों Facebook पर friend बन गये. उनके बिच बाते होने लगी. दोनों एक दुसरे से घंटो बात करते वो सारी बाते जो वर्षो पहले हुई थी वो होने लगा. इतने दिनों से दबा हुआ प्यार बहार आने लगा.

Hindi Love Story of Pintu and Neha

इस बार दोनों ने हिम्मत दिखाई. दोनों ने अपने पति और पत्नी से तलाक ले लिए. और एक दुसरे के हो गये. अब उनमे ख़ुशी था. अब वो जवान नहीं रहे. न ही वह जवानी रही. मगर प्यार वही था. उस प्यार का एहसास अब भी वही था. उनका हर दिन एक नया दिन था. उसने वर्षो का जुदाई एक जमना बित जाने जैसे था. अब उनको किसी चीज का कमी नहीं था. प्यार उनके साथ था.. उस से बड़ी चीज और क्या चाहिए थे. दोनों ने भगवान् की शुकिया अदा किया और बोले हे ऊपर वाले तेरे घर देर है अंधेर नहीं.
आपको यह story कैसा लगा जरुर कमेंट करे और आपके पास ऐसे story है तो हमे भेजिए.

Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


The views and opinions expressed in article/website are those of the authors and do not Necessarily reflect the official policy or position of www.trendzplay.com. Any content provided by our bloggers or authors are of their opinion, and are not intended to malign any religion, ethic group, club, organization, Company, individual or anyone or anything.

Post a Comment

0 Comments